Hindi Current Affairs 31 May 2016

प्रश्न:- मानव तस्करी रोधी विधेयक 2016 के सम्बन्ध में कौन सा तथ्य सही है?
         →  इसके मुताबिक मानव तस्करी के अपराधियों की सजा को दोगुना करने का प्रावधान है और ऐसे मामलों की तेज सुनवाई के लिए विशेष अदालतों के गठन का भी प्रावधान है।
         →  इस कानून के मुताबिक पीड़ितों की पहचान को सार्वजनिक नहीं किया जा सकेगा।
         →  इस कानून के मुताबिक ऐसे तस्करों को जेल की सजा होगी जो पीड़ितों के शोषण के लिए ड्रग और शराब का इस्तेमाल करते हैं या बच्चों की यौन परिपक्वता को बढ़ाने के लिए रसायनों या हारमोन्स का इस्तेमाल करते हैं।
         →  उपरोक्त सभी
उत्तर:-  इस साल के अंत में मानव तस्करी (रोकथाम, संरक्षण और पुनर्वास) विधेयक-2016 को संसद में रखा जाना है। इसके मुताबिक मानव तस्करी के अपराधियों की सजा को दोगुना करने का प्रावधान है और ऐसे मामलों की तेज सुनवाई के लिए विशेष अदालतों के गठन का भी प्रावधान है। इस कानून के मुताबिक पीड़ितों की पहचान को सार्वजनिक नहीं किया जा सकेगा। इस कानून के मुताबिक ऐसे तस्करों को जेल की सजा होगी जो पीड़ितों के शोषण के लिए ड्रग और शराब का इस्तेमाल करते हैं या बच्चों की यौन परिपक्वता को बढ़ाने के लिए रसायनों या हारमोन्स का इस्तेमाल करते हैं। अमेरिकी विदेश मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 2013 में तकरीबन साढ़े छह करोड़ लोगों की तस्करी की गई। इनमें से ​अधिकतर बच्चे हैं जिन्हें देह व्यापार, बंधुआ मजदूरी या भीख मांगने के काम में लगाया गया।
प्रश्न:- भारत में बढ़ती मानव तस्करी की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए मानव तस्करी रोधी विधेयक 2016 का मसौदा किस मंत्रालय द्वारा जारी किया गया है?
         →  केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय
         →  मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय
         →  समाज कल्याण मंत्रालय
         →  गृह मंत्रालय
उत्तर:-  भारत में बढ़ती मानव तस्करी की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए एक नया कानून तैयार किया गया है। नई दिल्ली में इस विधेयक के मसौदे को महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने सार्वजनिक परामर्श के लिए पेश किया। इस मौके पर मेनका गांधी का कहना था कि मानव तस्करी से निपटने के लिए मौजूदा कानून पर्याप्त नहीं हैं। इसके चलते इस कानून को खासतौर पर मानव तस्करी से निपटने के लिए तैयार किया गया है।
प्रश्न:- हिसेन हाब्रे को मानवता के ख़िलाफ़ अपराध का दोषी पाया गया है और उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई गई। वह किस देश के राष्ट्रपति थे?
         →  मोरक्को
         →  नाइजीरिया
         →  चाड
         →  सीरिया
उत्तर:-  चाड के पूर्व राष्ट्रपति हिसेन हाब्रे को मानवता के ख़िलाफ़ अपराध का दोषी पाया गया है और उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई गई। सेनेगल की राज़धानी डकार में अफ़्रीकी संघ समर्थित एक अदालत ने ये फ़ैसला सुनाया। हाब्रे 1982 से 1990 तक चाड के शासक रहे। जज ने इस दौरान उन्हें बलात्कार, यौन शोषण और हज़ारों लोगों की हत्या करवाने का दोषी करार दिया। हाब्रे पर आरोप है कि उन्होंने अपने इस आठ साल के शासन काल में 40 हज़ार लोगों का कत्ल करवाया।
प्रश्न:- 29 मई 2016 को किस खिलाड़ी ने मोनाको एफ1 ग्रां प्री रेस जीती?
         →  लुईस हैमिलटन
         →  फर्नांडो अलोंसो
         →  निको रोसबर्ग
         →  सेबेस्टियन वेटल
उत्तर:-  29 मई 2016 को लुईस हैमिलटन ने मोनाको एफ1 ग्रां प्री रेस जीती। उन्होंने रेड बुल के डेनियल रिकार्डो को पीछे छोड़ते हुए यह रेस जीती। इस रेस का आयोजन सर्किट डी मोनाको में हुआ। यह 2016 सीजन का छठा राउंड था।
प्रश्न:- 30 मई 2016 को किस क्रिकेट टीम के कप्तान एलिस्टर कुक टेस्ट मैचों में 10,000 रन बनाने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने?
         →  साउथ अफ्रीका
         →  ऑस्ट्रेलिया
         →  न्यूजीलैंड
         →  इंग्लैंड
उत्तर:-  30 मई 2016 को इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कप्तान एलिस्टर कुक टेस्ट मैचों में 10,000 रन बनाने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने। कुक की आयु 31 वर्ष 5 माह एवं 5 दिन है, उन्होंने यह उपलब्धि श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच के चौथे दिन नुवान प्रदीप की गेंद पर फ्लिक लगाकर हासिल की। यह उनका 128वां टेस्ट था।
बॉलीवुड के जाने माने संगीतकार ए आर रहमान को संगीत के जरिए एशियाई संस्कृति में उत्कृष्ट योगदान देने के लिए किस देश के शीर्ष सांस्कृतिक सम्मान "ग्रांड फुकुओका पुरस्कार 2016" पुरस्कार से नवाजा गया है?
         →  जापान
         →  चीन
         →  वियतनाम
         →  दक्षिण कोरिया
उत्तर:-  बॉलीवुड के जाने माने संगीतकार ए आर रहमान को संगीत के जरिए एशियाई संस्कृति में उत्कृष्ट योगदान देने के लिए जापान के शीर्ष सांस्कृतिक सम्मान "ग्रांड फुकुओका पुरस्कार 2016" पुरस्कार से नवाजा गया है। इस पुरस्कार के तहत संगीतकार रहमान को "फ्राम द हार्ट- द वर्ल्ड ऑफ ए आर रहमान्स म्यूजिक" विषय पर व्याख्यान देने के लिए बुलाया गया है। यह सम्मान प्रत्येक वर्ष दिया जाता है।
प्रश्न:- 31 मई 2016 को एडमिरल किन्होंने नौसेना प्रमुख का पदभार ग्रहण कर लिया है?
         →  सुरेश मेहता ने
         →  सुनील लांबा ने
         →  विवेक दीवान ने
         →  अनन्त श्रीधर ने
उत्तर:-  31 मई 2016 को एडमिरल सुनील लांबा ने नौसेना प्रमुख का पदभार ग्रहण कर लिया है। नौवहन एवं निर्देशन में विशेषज्ञ 58 वर्षीय लांबा का नौसेना प्रमुख पद पर कार्यकाल 31 मई 2019 यानि तीन वर्ष तक के लिए होगा।
प्रश्न:- ऑस्ट्रेलिया आधारित मानवाधिकर समूह ‘वाक फ्री फाउंडेशन’ की रिपोर्ट के सम्बन्ध में कौन सा तथ्य सही है?
         →  सूचकांक के अनुसार आधुनिक गुलामी सभी 167 देशों में पाई गई है। इसमें शीर्ष पांच देश एशिया के हैं।
         →  आबादी के अनुपात में जिन देशों में सबसे कम आधुनिक गुलामी का आकलन किया गया है उनमें लक्जेमबर्ग, नार्वे, डेनमार्क, स्विट्जरलैंड शामिल हैं।
         →  जिन 161 देशों का अध्ययन किया गया, उनमें से 124 देशों ने संयुक्त राष्ट्र मानव तस्करी प्रोटोकोल के अनुरूप मानव तस्करी को अपराध करार दिया है जबकि 90 देशों ने सरकारी कार्रवाइयों को समन्वित करने के लिए राष्ट्रीय कार्ययोजनाएं विकसित की हैं।
         →  उपरोक्त सभी
उत्तर:-  सूचकांक के अनुसार आधुनिक गुलामी सभी 167 देशों में पाई गई है। इसमें शीर्ष पांच देश एशिया के हैं। भारत इसमें शीर्ष पर है। भारत के बाद चीन (33 लाख 90 हजार), पाकिस्तान (21 लाख 30 हजार), बांग्लादेश (15 लाख 30 हजार) और उज्बेकिस्तान (12 लाख 30 हजार) का स्थान है। रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत में आधुनिक गुलामी में जकड़े लोगों की तादाद सबसे ज्यादा है। यहां एक अरब 30 करोड़ की आबादी में से एक करोड़ 83 लाख 50 हजार लोग गुलामी में जकड़े हैं। उत्तर कोरिया में इसकी व्यापकता सबसे ज्यादा है। वहां आबादी का 4.37 प्रतिशत आधुनिक गुलामी की गिरफ्त में है। वर्ष 2014 की पिछली रिपोर्ट में भारत में आधुनिक गुलामी में जकड़े लोगों की तादाद एक करोड़ 43 लाख बताई गई थी। आबादी के अनुपात में जिन देशों में सबसे कम आधुनिक गुलामी का आकलन किया गया है उनमें लक्जेमबर्ग, नार्वे, डेनमार्क, स्विट्जरलैंड, ऑस्ट्रिया, स्वीडन और बेल्जियम, अमेरिका और कनाडा, और ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड शामिल हैं। इस अध्ययन में आधुनिक गुलामी के खिलाफ सरकार की कार्रवाइयों और पहल पर भी निगाह डाली गई। जिन 161 देशों का अध्ययन किया गया, उनमें से 124 देशों ने संयुक्त राष्ट्र मानव तस्करी प्रोटोकोल के अनुरूप मानव तस्करी को अपराध करार दिया है जबकि 90 देशों ने सरकारी कार्रवाइयों को समन्वित करने के लिए राष्ट्रीय कार्ययोजनाएं विकसित की हैं।
प्रश्न:- ऑस्ट्रेलिया आधारित मानवाधिकर समूह ‘वाक फ्री फाउंडेशन’ की तरफ से 31 मई 2016 को जारी 2016 वैश्विक गुलामी सूचकांक के अनुसार किस देश में आधुनिक गुलामी से पीड़ितों की संख्या सबसे ज्यादा है?
         →  चीन
         →  भारत
         →  पाकिस्तान
         →  मालदीव
उत्तर:-  भारत में बंधुआ मजदूरी, वेश्यावृत्ति और भीख जैसी आधुनिक गुलामी के शिकंजे में एक करोड़ 83 लाख 50 हजार लोग जकड़े हुए हैं और इस तरह दुनिया में आधुनिक गुलामी से पीड़ितों की सबसे ज्यादा संख्या भारत में है। दुनिया भर में ऐसे गुलामों की तादाद तकरीबन चार करोड़ 60 लाख है। ऑस्ट्रेलिया आधारित मानवाधिकर समूह ‘वाक फ्री फाउंडेशन’ की तरफ से 31 मई 2016 को जारी 2016 वैश्विक गुलामी सूचकांक के अनुसार दुनिया भर में महिलाओं और बच्चों समेत चार करोड़ 58 लाख लोग आधुनिक गुलामी के गिरफ्त में है। दो साल पहले, 2014 में यह तादाद तीन करोड़ 58 लाख थी।

Share this

0 Comment to "Hindi Current Affairs 31 May 2016"

Post a Comment